भारत के पूर्वोत्तर राज्य नगालैंड में शनिवार रात को फायरिंग (Nagaland Firing) की हैरतअंगेज घटना हुई है. इस फायरिंग में अबतक 13 लोगों के मारे जाने की खबर है. मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है. फायरिंग की घटना के बाद लोग सड़कों पर पर उतर आए और कई गाड़ियों में आग लगा दी. अभी घटना की विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाई है.

इस फायरिंग में अबतक 13 नागरिकों के मारे जाने की खबर है. मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है. फायरिंग की घटना के बाद आई तस्वीरों में गाड़ियों को जलते हुए दिखाया गया है. ये घटना के नगालैंड के मोन जिले के ओटिंग की है. रिपोर्ट के अनुसार घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने सुरक्षाबलों की गाड़ियों में आग लगा दी.

नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफियो रियो ने लोगों से शांति की अपील की है. इस मामले की जांच के लिए उन्होंने SIT का गठन कर दिया है. सीएम ने ट्वीट कर कहा कि मोन के ओटिंग में में नागरिकों की हत्या की दुर्भाग्यपूर्ण घटना और अत्यंत निंदनीय है. मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता है. इस घटना की जांच उच्च स्तरीय एसआईटी करेगी और देश के कानून के अनुसार न्याय दिलाएगी, मैं सभी वर्गों से शांति की अपील करता हूं.

गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस घटना पर दुख व्यक्त किया है. अमित शाह ने ट्वीट कर कहा है कि नगालैंड के ओटिंग की दुर्भाग्यपूर्ण घटना से काफी व्यथित हूं.  जिन लोगों ने अपनी जान गंवाई है, उनके परिवारों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. राज्य सरकार द्वारा गठित एक उच्च स्तरीय एसआईटी इस घटना की गहन जांच करेगी ताकि शोक संतप्त परिवारों को न्याय सुनिश्चित किया जा सके.

रिपोर्ट के अनुसार घटना मोन जिले के ओटिंग के तिरु गांव में हुई है. हमले में मारे गए लोग एक पिकअप मिनी ट्रक से वापस लौट रहे थे. स्थानीय सूत्रों ने बताया कि घटना कल शाम 4 बजे की है. जब काफी देर के बाद भी ये लोग घर वापस नहीं लौटे तो गांव के वॉलंटियर्स इन्हें खोजने के लिए निकले. तभी इन्हें इनकी डेड बॉडीज मिली. इस घटना के बाद इलाके में तनाव फैल गया. गुस्साए ग्रामीणों ने सुरक्षाबलों की गाड़ियों में आग लगा दी.

इस घटना की नागालैंड के मुख्यमंत्री नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने पुष्टि करते हुए निंदा की है और लोगों से इलाके में शांति बनाने की अपील की और कहा कि राज्य के मोन जिले के ओटिंग गांव में “दुर्भाग्यपूर्ण घटना” के कारण “नागरिकों की हत्या” हुई। इसकी जांच एसआईटी करेगी।

इस घटना की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने आज सुबह ट्वीट किया, ‘मोन के ओटिंग में नागरिकों की हत्या की दुर्भाग्यपूर्ण घटना अत्यंत निंदनीय है। पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी सहानुभूति व्यक्त करता हूं। घायल लोगों के जल्द ठीक होने की कामना करना करता हूं। उच्चस्तरीय एसआईटी मामले की जांच करेगी और कानून के अनुसार न्याय होगा। सभी वर्गों से शांति की अपील करता हूं।’

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नगालैंड में उस समय तनाव की स्थिति पैदा हो गई, जब मोन जिले के तिरु गांव में सुरक्षा बलों ने एनएससीएन के उग्रवादी होने का संदेह जताते हुए कुछ नगा युवकों उन पर फायरिंग कर दी, जिसमें उनकी मौतें हो गईं। आरोप है कि सुरक्षाबलों ने उग्रवादी होने के शक में इन पर फायरिंग की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here