Rahul gandhi on Up

लखीमपुर खीरी पुलिस ने सिर्फ 24 घंटे में दो दलित बहनों की हत्या की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. पुलिस के मुताबिक दो दलित बहनों को बहलाया फुसलाया गया, फिर हवस का शिकार बनाया और जुर्म छुपाने के मकसद से मार कर पेड़ से लटका दिया गया. इस बीच रेप के आरोपी जुनैद की पुलिस के साथ मुठभेड़ हो गई जिसमें उसके पैर में गोली लगी है.

आपको बता दें कि लखीमपुर खीरी में दो बहनों की पेड़ से लटकती लाश मिलने के बाद तरह-तरह के थ्योरी सामने आ रही है थी, लेकिन पुलिस की जांच उम्मीद से ज्यादा तेज रफ्तार से आगे बढ़ रही है अगर पुलिस की बातों पर भरोसा किया जाए तो. इधर पुलिस की थ्योरी पर परिवार का भी दावा आया है.

परिवार पुलिस की थ्योरी को खरीद कर रहा है. परिवार का कहना है कि जब वारदात हुई तो पुलिस यहां मौजूद नहीं थी, हम यहां थे. हमने पूरी घटना देखी. मेरी बहनों को घसीट कर ले जाया गया था, उसे तीन युवक घसीट कर ले गए थे. इससे पहले मृतक की मां ने भी कहा था कि बुधवार दोपहर 3 युवक उनकी बेटियों को उठा ले गए और फिर हत्या कर शव पेड़ से लटका दिया.

इस पूरी घटना पर राहुल गांधी का बयान भी सामने आया है. राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि, लखीमपुर में दिन-दहाड़े, दो नाबालिग दलित बहनों के अपहरण के बाद उनकी हत्या, बेहद विचलित करने वाली घटना है. बलात्कारियों को रिहा करवाने और उनका सम्मान करने वालों से महिला सुरक्षा की उम्मीद की भी नहीं जा सकती. हमें अपनी बहनों-बच्चियों के लिए देश में एक सुरक्षित माहौल बनाना ही होगा.

आपको बता दें कि लखीमपुर के एक गांव की सरहद पर पेड़ से लटकी हुई दो बहनों की लाश मिली थी. दलित समुदाय से आने वाली दोनों लड़कियां अब इस दुनिया में नहीं है. परिवार की मानें तो इन दोनों बहनों के साथ ज्यादती की इंतहा हुई है. परिवार का आरोप है कि दोनों को अगवा किया गया, उनसे रेप हुआ और फिर दोनों की हत्या करके पेड़ से लटका दिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here