मशहूर न्यूज़ एंकर चित्रा त्रिपाठी के पति पत्रकार अतुल अग्रवाल के लूट कांड मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है। जांच पड़ताल में नोएडा पुलिस ने ये पाया है कि पत्रकार अतुल अग्रवाल के साथ लूट की घटना हुई ही नहीं थी। उन्होंने लूट की झूठी कहानी बनाई थी।

दरअसल कुछ दिनों पहले ही एंकर चित्रा त्रिपाठी के पति अतुल अग्रवाल ने ट्वीट कर ये कहा था कि रात के लगभग डेढ़ बजे उनके साथ कुछ बदमाशों ने लूट पाट की है। उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को भी दी।

उनके साथ हुए इस घटना पर लोगों ने योगी सरकार की कानून व्यवस्था को आड़े हाथों लिया और पुलिस की भी खूब आलोचना की और लोगों ने पुलिस से कार्यवाही की मांग भी की।

इसके उलट अतुल अग्रवाल ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि उनको न ही उत्तर प्रदेश पुलिस से शिकायत है और न ही योगी आदित्यनाथ से बल्कि हमें खुद ही अपने आपको सुरक्षित रखना चाहिए और ज़्यादा रात को बाहर नहीं निकलना चाहिए।

इस पूरे प्रकरण में अतुल अग्रवाल की पत्नी मशहूर न्यूज़ एंकर चित्रा त्रिपाठी की भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी। यहीं से पुलिस की शक की सुई अतुल अग्रवाल पर घूमी और पुलिस पूरे मामले की तह तक गयी।

सारे साक्ष्यों के अच्छी तरह तफ्तीश करने पर पुलिस ने पाया कि अतुल अग्रवाल द्वारा बताई जा रही लूट की कहानी झूठी है।

पुलिस ने आज एक प्रेस नोट जारी किया है। इस प्रेस नोट में पुलिस ने सारे साक्ष्यों के साथ घटना की पूरी जानकारी दी है। पुलिस ने अपनी तफ्तीश में पाया कि जिस रात को अतुल अग्रवाल ने लूट की बात कही थी उसी रात को अतुल 7 बजे नोएडा के सेक्टर 45 में अपनी एक महिला मित्र से मिलने गया था। अतुल की उस महिला मित्र ने उसे डिनर के लिए बुलाया था।

इसी दौरान अतुल अग्रवाल को उसकी पत्नी चित्रा त्रिपाठी का फ़ोन आया। चित्रा ने अतुल को तत्काल घर आने को कहा, जिसके बाद वह तुरंत वहां से चले गए। जब वे वहां से गए उस वक़्त रात्रि के लगभग 10:40 बज रहे थे।

अतुल की गर्लफ्रैंड ने बताया कि अतुल ने लगभग 1 बजकर 20 मिनट पर उसे दुबारा कॉल किया और बताया कि वह सड़कों पर भटक रहा है और रात को सोने के लिए oyo रूम ढूंढ रहा है। उस वक़्त उसने किसी भी लूट के बारे में कोई जानकारी नहीं दी।

जांच में पुलिस ने ये भी पाया कि जिस जगह पर अतुल ने लूट की घटना होने का दावा किया था वहां से oyo होटल जाने में लगभग 15 से 16 मिंट का समय लगता है। जबकि आखरी बार 12:54 पर उस जगह पर अतुल के कर को देखा गया और फिर ठीक 13 मिंट बाद 1:07 मिंट पर oyo room पहुंच गए। यानी 15 मिंट की दूरी उन्होंने 13 मिंट में तय की और इस दौरान उनके साथ लूट पाट की घटना भी हुई।

अतुल अग्रवाल की गर्लफ्रैंड का बयान और oyo rooms में किये गए अतुल अग्रवाल का सिग्नेचर इस बात का सबूत है कि ये पूरा मामला अतुल अग्रवाल के निजी मामला है। जिसको छुपाने के लिए उसने झूठी लूट की घटना की कहानी रची।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here