इंदौर में पकड़ाए सेक्स स्कैंडल में 7 में से 4 थाईलैंड की लड़कियां जेंडर चेंज कराकर फीमेल बनी हैं। लड़कियों से जब्त पासपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। पासपोर्ट में चार लड़कियों का जेंडर मेल दर्ज है। विजय नगर इलाके के एटम स्पा सेंटर में गुरुवार रात पुलिस ने रेड कर स्कैंडल पकड़ा था।

10 लड़कियों (इनमें 7 थाईलैंड की हैं) के साथ पकड़े गए 8 कस्टमर्स में 3 खंडवा के खालवा मंडल के भाजपा युवा मोर्चा के पदाधिकारी हैं। हरसूद विधानसभा क्षेत्र के यह नेता प्रदेश सरकार में वन मंत्री विजय शाह के करीबी भी हैं। तीनों मसाज कराने वहां गए थे, इस दौरान छापा पड़ गया और पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया।

महिला थाना प्रभारी ज्योति शर्मा के अनुसार थाईलैंड से 7 लड़कियां आई हैं। 4 के पास जब्त पासपोर्ट में इनका जेंडर मेल लिखा हुआ है। चारों जेंडर चेंज कराकर स्पा सेंटर में जिस्मफरोशी का धंधा कर रहे थे। पुलिस ने 17 आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से सभी को जेल भेज दिया गया। स्पा के संचालक संजय से अभी पूछताछ की जा रही है।

मंत्री शाह के करीबी हैं युवा मोर्चा नेता
BJP के तीनों पदाधिकारी प्रदेश सरकार में वन मंत्री विजय शाह के करीबी है। मंत्री शाह इसी क्षेत्र से विधायक हैं। मामला सामने आया तो कई लोगों ने मंत्री और उनके बेटे दिव्यादित्य के साथ आरोपियों के फोटो भी सोशल मीडिया पर शेयर किए हैं।

संचालक लड़कियों को कमीशन पर रखे था
स्पा सेंटर का संचालक कस्टमर्स से 5 से 10 हजार रुपए तक वसूलता था। धंधे में शामिल युवतियों को कमीशन के तौर पर दो से तीन हजार रुपए देता था। इस धंधे के लिए उसने थाईलैंड की लड़कियों को भी नौकरी पर रखा था।

कांग्रेस ने शनिवार को उनकी तस्वीर जारी की है। साथ ही आरोप लगाया है कि तीन में से एक आरोपी वन मंत्री विजय शाह का करीबी है। इस मामले में सियासी फजीहत झेल रही बीजेपी का कहना है कि वह आरोपों के घेरे में आए तीनों लोगों के बारे में पड़ताल कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने आरोप लगाया है कि इंदौर के एक सैलून में जिस्मफरोशी गिरोह के खुलासे के वक्त आपत्तिजनक स्थिति में पकड़े गए लोगों में तीन खंडवा जिले के भाजयुमो नेता हैं। ये तीनों नेता खंडवा से ही ताल्लुक रखने वाले वन मंत्री विजय शाह के करीबी हैं।

उन्होंने कहा कि जिस्मफरोशी मामले में तीन भाजयुमो नेताओं के पकड़े जाने से बीजेपी की असली चाल, चरित्र और चेहरा सामने आ गया है। हम वन मंत्री के इस्तीफे की मांग करते हैं।

कांग्रेस के आरोपों पर वन मंत्री शाह की प्रतिक्रिया कई प्रयासों के बावजूद नहीं मिल सकी है। हालांकि, प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता उमेश शर्मा ने कहा कि खंडवा की जिला बीजेपी इकाई आरोपों के घेरे में आए तीनों लोगों के बारे में पड़ताल कर रही है। अगर तीनों लोग भाजयुमो से जुड़े पाए गए और जिस्मफरोशी मामले में उनकी कोई भूमिका मिली, तो प्रदेश बीजेपी इकाई की ओर से इन्हें पार्टी से बाहर निकालने की सिफारिश की जाएगी।

वहीं, पुलिस के एक आला अधिकारी ने बताया कि इंदौर के विजय नगर स्थित सैलून में जिस्मफरोशी के मामले में बृहस्पतिवार को 10 महिलाओं और आठ पुरुषों को अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया था, जिनमें थाईलैंड की सात युवतियां शामिल हैं। अधिकारी ने पुष्टि की कि सैलून से ग्राहकों के रूप में पकड़े गए आरोपियों में खंडवा जिले के तीन लोग शामिल थे।

उन्होंने बताया कि सैलून के अलग-अलग केबिन में ग्राहकों के साथ सभी युवतियां आपत्तिजनक अवस्था में थीं। हमें वहां यौन क्रिया में प्रयोग होने वाली आपत्तिजनक सामग्री भी मिली। अधिकारी के मुताबिक पुलिस पूछताछ में सैलून संचालक ने कथित रूप से देह व्यापार का जुर्म कबूल कर लिया और बताया कि वह हर ग्राहक से 5,000 रुपये से 10,000 रुपये वसूल कर उन्हें कैबिन के अंदर युवतियों के पास भेजता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here