पीएम मोदी की 7 मार्च को कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में हुई रैली में अच्छी-खासी भीड़ जुटी थी. लेकिन बीजेपी के कुछ नेताओं ने इस भीड़ को और ज्यादा दिखाने के चक्कर में पुरानी तस्वीरें पोस्ट कर दीं. सोशल मीडिया ने बीजेपी का ये झूठ पकड़ लिया और फिर विपक्ष को मौका मिल गया. असल में कोलकाता रैली में कितनी भीड़ जुटी थी, बीजेपी नेताओं ने क्या किया था और कैसे अब बीजेपी नेता डैमैज कंट्रोल की कोशिश कर रहे हैं, बता रहे हैं अविनाश राय.

जब प्रधानमंत्री मोदी ने कोलकाता के ब्रिगेड परेड मैदान में रविवार को रैली की तो उनकी पार्टी और समर्थकों की ओर से ऐसी-ऐसी तसवीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दावा किया जाने लगा जैसे अपूर्व भीड़ जुटी। यदि ऐसी भीड़ जुटी भी होगी तो भी बीजेपी और उनके समर्थकों द्वारा कई ऐसी तसवीरें शेयर की गईं जो दूसरी पार्टियों की रैलियों की थीं। कुछ तो दो साल पहले की भी तसवीरें थीं। फ़ैक्ट चेक करने वाली वेबसाइट ‘ऑल्ट न्यूज़’ ने यह दावा किया है।

रिपोर्ट के अनुसार, कई राज्यों की बीजेपी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल और एसजी सूर्या जैसे बीजेपी के प्रवक्ताओं ने भी उन तसवीरों को ट्विटर पर साझा किया। लेकिन जब उन तसवीरों को लेकर सवाल उठाए जाने लगे तो फिर उन ट्विटर हैंडल से तसवीरें ग़ायब होने लगीं। इन तसवीरों का ग़ायब होना ही एक तरह से फ़ैक्ट चेक है कि उन तसवीरों को ग़लत तरीक़े से साझा किया गया था।

जिस पुरानी तसवीर को कोलकाता में मोदी की रैली की तसवीर बताकर शेयर किया गया था उसको बाद में अधिकतर जगहों से हटा लिया गया। एसजी सूर्या ने तो उन तसवीरों को हटाने की बात स्वीकारी भी।

एसजी सूर्या ने जब कहा कि उन्होंने वह ट्वीट हटा लिया है तो ऑल्ट न्यूज़ के मुहम्मद ज़ुबैर ने ट्वीट कर कहा कि सिर्फ़ आप ही नहीं कई और ट्विटर हैंडल से उसी तसवीर को ट्वीट किया गया। उन्होंने पूछा कि ‘क्या वाट्सऐप ग्रुप पर टूलकिट शेयर किया गया था?’

ऑल्ट न्यूज़’ की रिपोर्ट के अनुसार पुरानी तसवीरों को बीजेपी तमिलनाडु, बीजेपी पंजाब, बीजेपी सदस्य तेजिंदर सिंह बग्गा, एसजी सूर्या, भानू जलान और सीए ओपी मिश्रा जैसे लोगों ने शेयर किया था। इस रिपोर्ट के अनुसार पिछले हफ़्ते भी कुछ कांग्रेस समर्थकों ने इसी तसवीर को शेयर कर दावा किया था कि यह कांग्रेस, सीपीआई (एम) और इंडियन सेक्युलर फ्रंट की रैली की भीड़ है।

ऑल्ट न्यूज़ ने लिखा है कि जब इसकी रिवर्स इमेज से पड़ताल की गई तो यही तसवीर एक्सवाईजेड सोशल न्यूज़ द्वारा 2019 में शेयर की गई थी और कैप्शन में लिखा था कि यह 3 फ़रवरी 2019 में लेफ्ट फ्रंट की ब्रिगेड परेड ग्राउंड कोलकाता में रैली है। तसवीर को न्यूज़ एजेंसी आईएनएस से साभार लगाया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here