Rahul Gandhi

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने महंगाई के खिलाफ हल्ला बोल रैली को संबोधित किया, जिसमें उन्होंने देश के तमाम मुद्दों को छुआ. जनता की तमाम तकलीफों को आवाज देते हुए मोदी सरकार के खिलाफ बिगुल फूंका. इस बीच राहुल गांधी ने जो भाषण दिया उसमें गलती से उन्होंने 22 रुपए किलो और 40रुपए किलो आटे की जगह 22 रुपए लीटर और 40 रुपए लीटर आटा बोला और तुरंत उन्होंने अपनी गलती को सुधारते हुए उसे किलोग्राम कहा. लेकिन बीजेपी आईटी सेल तथा गोदी मीडिया ने राहुल गांधी को बदनाम करने के लिए एडिटेड वीडियो चलाया.

जवाब में सोशल मीडिया पर कई तरह के वीडियो वायरल हुए बीजेपी नेताओं के जिसमें बीजेपी के नेताओं ने गलती से कुछ अलग शब्दों का प्रयोग किया इसमें प्रधानमंत्री मोदी से लेकर अमित शाह तक के पुराने वीडियो वायरल हुए. इस बीच बीजेपी के कद्दावर नेता गिरिराज सिंह का एक पुराना वीडियो वायरल हुआ, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को आतंकवादियों का समर्थक तक बता दिया था.

यह कोई पहली बार नहीं है जब राहुल गांधी के खिलाफ एक पूरी मशीनरी ने काम करते हुए उनके वीडियो को एडिट करके वायरल किया. राहुल गांधी से गलती हुई और उन्होंने तुरंत गलती सुधारी, लेकिन जहां उन्होंने गलती सुधारी उस वीडियो को कट कर दिया गया और जहां गलती से उन्होंने आटे को लीटर बोला वहां तक के वीडियो को वायरल किया गया. हालांकि इस बार यह प्रोपेगेंडा ज्यादा देर तक नहीं चला.

जिस तरीके से राहुल गांधी के वीडियो को वायरल किया गया उससे एक बार फिर से बीजेपी और मीडिया ने साबित किया कि विपक्ष की सबसे बड़ी आवाज आज भी राहुल गांधी है और उनके खिलाफ भ्रामक खबरें फैलाने के लिए सरकार की पूरी मशीनरी ने अपना जोर लगा दिया, लेकिन फिर भी कामयाब नहीं हुए. जिस तरीके से मीडिया और बीजेपी की तरफ से यह साबित करने की कोशिश होती है कि राहुल गांधी को कोई गंभीरता से नहीं लेता और फिर यही बीजेपी की मशीनरी राहुल गांधी के पीछे पूरी ताकत से पड़ी रहती है, इससे साबित होता है कि बीजेपी के लिए आज भी सबसे बड़ी चुनौती राहुल गांधी बने हुए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here